अवनी चतुर्वेदी ने रचा एक और इतिहास, अकेले लड़ाकू विमान उड़ाने वाली बनी पहली भारतीय महिला

Updated On: Feb 22, 2018 - 4 महीने पहले
Report By: Goodsamachar.com

अवनी चतुर्वेदी ने रचा एक और इतिहास, अकेले लड़ाकू विमान उड़ाने वाली बनी पहली भारतीय महिला

नई दिल्ली। इंडियन एयर फोर्स की फ्लाइंग ऑफिसर अवनी चतुर्वेदी ने अकेले लड़ाकू विमान मिग-21 उड़ाकर इतिहास रच दिया है। ऐसा करने वाली वह भारत की पहली भारतीय महिला बन गई हैं। 19 फरवरी को सुबह अवनी चतुर्वेदी ने गुजरात के जामनगर एयरबेस से अकेले ही फाइटर एयरक्राफ्ट मिग-21 से उड़ान भरकर अपना ये मिशन पूरा किया है।

किसी महिला का पूर्ण रूप से फाइटर पायलट बनने की दिशा में यह पहला कदम है। उड़ान के दौरान अनुभवी पायलट और प्रशिक्षक एयर ट्रैफिक कंट्रोल और रन-वे पर निगरानी के लिए मौजूद थे। बता दें कि महिला फाइटर पायलट बनने के लिए 2016 में पहली बार तीन महिला पायलटों अवनि चतुर्वेदी, मोहना सिंह और भावना को वायु सेना में कमीशन किया गया था।

करियर पर एक नज़र

भारत की पहली महिला लड़ाकू पायलटों में से एक हैं अवनि चतुर्वेदी। यह मध्य प्रदेश के रीवा जिले से है। अवनी के साथ भावना कंठ और मोहना सिंह को औपचारिक रूप से तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर द्वारा कमीशन में शामिल किया गया था। इन तीनों को लड़ाकू पायलट घोषित किया जा चुका है। इन्हें जून 2016 में भारतीय वायु सेना के लड़ाकू स्क्वाड्रन में शामिल किया गया था।

पहली बार शामिल हुईं 3 महिला फाइटर पायलट

फ्लाइंग कैडेट भावना कंठ, मोहना सिंह और अवनी चतुर्वेदी को हैदराबाद के पास डुंडिगल एयरफोर्स एकेडमी में कमीशन मिला था। इन तीनों का चयन 120 महिला कैडेटों में से किया गया था।



loading...

जरूर पढ़ें