मशहूर वैज्ञानिक स्‍टीफन हॉकिंग का निधन

Updated On: Mar 14, 2018 - 3 महीने पहले
Report By: Goodsamachar.com

मशहूर वैज्ञानिक स्‍टीफन हॉकिंग का निधन

वॉशिंगटन। मशहूर भौतिक वैज्ञानिक स्‍टीफन हॉकिंग का 76 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। हॉकिंग के परिवार के प्रवक्‍ता ने बुधवार को यह जानकारी दी। उनके तीनों बच्‍चों लूसी, रॉबर्ट और टिम ने हॉकिंग के निधन की पुष्टि करते हुए शोक व्‍यक्‍त किया। ब्रह्मांड के रहस्‍यो से पर्दा उठाने वाले हॉकिंग का जन्‍म 8 जनवरी 1942 को इंग्लैंड के ऑक्सफोर्ड में हुआ था। जानकारी के अनुसार उनकी मृत्‍यु कैंब्रिज में उनके घर पर ही हुई है।

उन्‍होंने कहा कि हम काफी दुखी है क्‍योंकि आज हमारे प्रिय पिता का निधन हो गया है। वे एक महान वैज्ञानिक और असाधारण व्‍यक्ति थे, जिनका  काम और विरासत अनंत समय तक जीवित रहेगा। उनकी दृढ़ता और प्रतिभा का लोहा पूरी दुनिया मानती है। हम हमेशा उन्‍हें याद करेंगे।

हॉकिंग ने ब्‍लैक होल और बिग बैंग थ्‍योरी की गुत्‍थी समझाने में खासा योगदान दिया था। उनकी ब्रह्मांड के रहस्यों पर किताब ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ भी दुनिया भर में काफी मशहूर हुई थी। उन्‍हें अमेरिका के सबसे उच्‍च नागरिक सम्‍मान से भी नवाजा गया था। हॉकिंग को एलबर्ट आइंस्टीन के बाद दुनिया के सबसे महान सैद्धांतिक भौतिक वैज्ञानिक माना जाता था ।

हॉकिंग साल 1963 में 21 वर्ष की उम्र में मोटर न्‍यूरोन नामक बीमारी से ग्रस्‍त हो गए थे, जिसके बाद उनके डॉक्‍टरों का मानना था कि वह अब मात्र 2 साल ही और जीवित रहेंगे। इस बीमारी के कारण उनके ऊपर लकवा का अटैक हुआ और वह व्‍हीलचेयर पर आश्रित हो गए। इसके बाद वह अपने एक हाथ की कुछ उंगलियों को ही हिला सकते थे। इस कारण वे हर चीज के लिए टेक्‍नोलॉजी पर पूरी तरह से निर्भर हो गए।

हॉकिंग ने एक बार अपनी सफलता का राज बताते हुए कहा था कि उनके वैज्ञानिक बनने में सबसे बड़ी भूमिका उनकी बीमारी ने निभाई है। बीमारी से पहले वह अपनी पढ़ाई पर ज्‍यादा ध्‍यान नहीं देते थे लेकिन बीमारी के बारे में पता चलने पर उन्‍हें लगा कि वह ज्‍यादा समय तक जिंदा नहीं रहेंगे तो उन्‍होंने अपना सारा ध्‍यान रिसर्च पर लगा दिया। बता दें कि हॉकिंग ने ब्‍लैक हॉल्‍स पर रिसर्च की है।

हॉकिंग को कभी मौत से डर नही लगा एक बार उन्‍होंने कहा था कि वह पिछले 49 सालों से मौत का इंतजार कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि हालांकि उन्‍हें मरने की जल्‍दी नहीं है। उनका मानना था कि उनका जन्‍म बहुत सारे काम करने के लिए हुआ है और जब तक वह सारे काम नहीं कर लेंगे इस दुनिया को छोड़ कर नहीं जाएंगे।



loading...

जरूर पढ़ें